Makar Sankranti 2024: मकर संक्रांति पर करें इन मंत्रों का जाप, सूर्य संग शनि भी रहेंगे मेहरबान

0
6

Makar Sankranti 2024: 15 जनवरी 2024 को मकर संक्रांति धूमधाम से मनाई जाएगी, इस दिन सूर्य और शनि को प्रसन्न करने के लिए पूजा में खास शक्तिशाली मंत्रों का जाप करें, इससे सर्व कार्य सिद्ध होते है.

ओम ऐहि सूर्य सह स्त्रांशों तेजोराशे जग त्पते, अनुकंपयेमां भक्त्या, गृहाणार्घ्यं नमो स्तुते।। – मकर संक्रांति पर सूर्य को जल चढ़ाते समय इस मंत्र का जाप करें, कहते हैं इससे कुंडली में सूर्य मजबूत होते हैं. करियर में व्यक्ति को दोगुना लाभ मिलता है.

‘आदित्यतेजसोत्पन्नं राजतं विधिनिर्मितम्। श्रेयसे मम विप्र त्वं प्रतिगृहेणदमुत्तमम्।।’ – मकर संक्रांति के दिन आदित्य मंडल दान का विशेष महत्व है. आदित्य मंडल दान करने के लिए जौ में गुड़ और गाय का घी मिलाकर आदित्य मंडल के आकार का पुआ बनाया जाता है. इसकी पूजा के बाद ब्राह्मण को दान करते समय ये मंत्र बोलें. इससे व्यक्ति के सारे दोष समाप्त हो जाते हैं. भाग्य सूर्य की तरह चमकता है.

‘आदित्यतेजसोत्पन्नं राजतं विधिनिर्मितम्। श्रेयसे मम विप्र त्वं प्रतिगृहेणदमुत्तमम्।।’ – मकर संक्रांति के दिन आदित्य मंडल दान का विशेष महत्व है. आदित्य मंडल दान करने के लिए जौ में गुड़ और गाय का घी मिलाकर आदित्य मंडल के आकार का पुआ बनाया जाता है. इसकी पूजा के बाद ब्राह्मण को दान करते समय ये मंत्र बोलें. इससे व्यक्ति के सारे दोष समाप्त हो जाते हैं. भाग्य सूर्य की तरह चमकता है.

इन्द्रं विष्णुं हरिं हंसमर्कं लोकगुरुं विभुम्। त्रिनेत्रं त्र्यक्षरं त्र्यङ्गं त्रिमूर्तिं त्रिगतिं शुभम्।। – मकर संक्रांति इस मंत्र का जाप करते हुए इंद्र देव, सूर्य का आभार प्रकट करें. इनकी कृपा से अच्छी फसल की पैदावार होती है. ऐसे में आने वाली फसल भी अच्छी हो इसकी प्रार्थना करें.

इन्द्रं विष्णुं हरिं हंसमर्कं लोकगुरुं विभुम्। त्रिनेत्रं त्र्यक्षरं त्र्यङ्गं त्रिमूर्तिं त्रिगतिं शुभम्।। – मकर संक्रांति इस मंत्र का जाप करते हुए इंद्र देव, सूर्य का आभार प्रकट करें. इनकी कृपा से अच्छी फसल की पैदावार होती है. ऐसे में आने वाली फसल भी अच्छी हो इसकी प्रार्थना करें.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here