Tuesday, May 21, 2024
Homeप्रदेशCg weather update : इन आठ राज्यों में होगी भारी बारिश, मौसम...

Cg weather update : इन आठ राज्यों में होगी भारी बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

 

नई दिल्ली : देश के अलग-अलग हिस्सों में मॉनसून सक्रिय बना हुआ है। मौसम विभाग का कहना है कि अगले पांच दिनों के दौरान प्रायद्वीपीय भारत, ओडिशा और छत्तीसगढ़ में सक्रिय मानसून की स्थिति जारी रहने की संभावना है। वहीं मध्य प्रदेश में मंगलवार से शुक्रवार के दौरान और गुजरात में गुरुवार और शुक्रवार को भारी बारिश होने की संभावना है। पूर्वी भारत में मौसम का पूर्वानुमान हल्की से व्यापक वर्षा की संभावना का संकेत देता है, साथ में आंधी, बिजली और भारी वर्षा की अलग-अलग घटनाएं भी हो सकती हैं। आईएमडी ने अपने बुलेटिन में कहा कि मौसम का यह मिजाज सोमवार और मंगलवार को गंगीय पश्चिम बंगाल में, सोमवार से गुरुवार तक ओडिशा में और सोमवार से शुक्रवार तक अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में होने की उम्मीद है। राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाकों में मौसम साफ बना रहेगा।
दिल्ली : साफ रहेगा मौसम

राजधानी में सोमवार सुबह सुनहरी धूप खिली और दिन में अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है। मौसम विभाग ने यह जानकारी दी। विभाग ने बताया कि दिल्ली में न्यूनतम तापमान 26.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस अधिक है। विभाग ने दिल्ली में दिन में आसमान साफ रहने का अनुमान जताया है।

Read more :Cg news : महिलाओं के संरक्षण के लिए कानून का सख्ती से किया जा रहा है पालन-मुख्यमंत्री भूपेश बघेल


छत्तीसगढ़ : भारी बारिश के लिए हो जाएं तैयार

छत्तीसगढ़ में सोमवार से गुरुवार तक, पूर्वी मध्य प्रदेश में मंगलवार से शुक्रवार तक और पश्चिमी मध्य प्रदेश में बुधवार से शुक्रवार तक ऐसी स्थिति की उम्मीद की जा सकती है। राज्य में भारी वर्षा की अलग-अलग घटनाओं के साथ हल्की से व्यापक वर्षा, गरज और बिजली गिरने की संभावना है। आईएमडी ने कहा कि इसके अलावा सोमवार और मंगलवार को छत्तीसगढ़ में बहुत भारी बारिश होने की संभावना है।

बिहार : दो-तीन होगी बारिश

बिहार में राजधानी पटना समेत अलग-अलग हिस्सों में पिछले दो दिन से बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने अगले तीन दिन के लिए बारिश का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग का कहना है कि मॉनसून ट्रफ लाइन हिमालय की तलहटी से गुजर रही है। इसके अलावा चक्रवातीय परिसंचरण का क्षेत्र उत्तर बंगाल की खाड़ी में बना हुआ है। इसके असर के रूप में प्रदेश के कई जिलों में वज्रपात के साथ हल्की बारिश का अनुमान है। इससे पहले, राजधानी पटना और आसपास के इलाकों में शनिवार की बारिश हुई। बारिश के बाद गर्मी झेल रहे लोगों राहत मिली।

दक्षिण भारत की बात करें तो, हल्की से व्यापक वर्षा के समान पैटर्न का पूर्वानुमान है, साथ ही भारी वर्षा की अलग-अलग घटनाएं भी हो सकती हैं। तटीय आंध्र प्रदेश, यनम और तेलंगाना में गुरुवार तक इस मौसम की उम्मीद हो सकती है। तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल, केरल और माहे में सोमवार से शुक्रवार तक ऐसा अनुभव हो सकता है। मौसम पूर्वानुमान एजेंसी ने कहा कि रायलसीमा में सोमवार और मंगलवार को, उत्तर आंतरिक कर्नाटक में सोमवार, बुधवार और गुरुवार को, तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में बुधवार से शुक्रवार तक और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में बुधवार और गुरुवार को ये स्थितियां देखने की संभावना है।

आईएमडी ने अपने बुलेटिन में कहा सोमवार से शुक्रवार तक अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में होने की उम्मीद है। पूर्वी भारत में मौसम का पूर्वानुमान हल्की से व्यापक वर्षा की संभावना का संकेत देता है, साथ में आंधी, बिजली और भारी वर्षा की अलग-अलग घटनाएं भी हो सकती हैं।

Read more : Raipur gang rape case : रायपुर में हुए दो सगी बहनों से सामूहिक दुष्कर्म को लेकर लोगों में आक्रोश, दरिंदों को जल्द फांसी देने की मांग


पश्चिम भारत में हल्की से व्यापक वर्षा, गरज के साथ बारिश और बिजली गिरने का पूर्वानुमान है, साथ ही कुछ स्थानों पर भारी वर्षा भी होगी। आईएमडी ने कहा कि मराठवाड़ा में सोमवार से गुरुवार तक ऐसा मौसम रह सकता है, जबकि कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र और गुजरात क्षेत्र में बुधवार से शुक्रवार तक ऐसा हो सकता है।

तटीय आंध्र प्रदेश, यनम और तेलंगाना में गुरुवार तक इस मौसम की उम्मीद हो सकती है। मौसम पूर्वानुमान एजेंसी ने कहा कि रायलसीमा में सोमवार और मंगलवार को, उत्तर आंतरिक कर्नाटक में सोमवार, बुधवार और गुरुवार को, तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में बुधवार से शुक्रवार तक और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में बुधवार और गुरुवार को ये स्थितियां देखने की संभावना है।

ओडिशा : बहुत भारी बारिश की आशंका

ओडिशा के विभिन्न क्षेत्रों में 4 और 5 सितंबर को बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। मौसम विभाग ने लोगों से आग्रह किया है कि वे कच्चे एवं भारी जल भराव वाले क्षेत्रों में जाने से बचें। अपने आसपास के लोगों को भी जागरूक करें। सावधान रहें, सुरक्षित रहें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular