अंबिकापुर में छत्तीसगढ़ के सीएम ने कही ये बड़ी बात, विरासत में खाली मिला खजाना

0
10

सरगुजा: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय का मां महामाया एयरपोर्ट अंबिकापुर में शानदार स्वागत किया गया. सरकार बनाने के बाद मुख्यमंत्री साय पहली बार संभागीय मुख्यालय अंबिकापुर पहुंचे. अंबिकापुर पहुंचने के बाद सीएम सबसे पहले मां महामाया का आशीर्वाद लेने मंदिर पहुंचे और प्रदेश की सुख समृद्धि व खुशहाली की कामना की.

बीजेपी कार्यकर्ताओं को किया संबोधित : इसके बाद मुख्यमंत्री समेत तमाम अतिथि कार्यकर्ता अभिनंदन समारोह में पहुंचे. यहां सीएम साय ने बीजेपी प्रदेश प्रभारी ओम माथुर का आभार जताया और कहा कि वो जहां भी जाते हैं वहां जीत दिलाते हैं. साथ ही कार्यकर्ताओं का अभिनंदन कर कहा कि आपकी मेहनत के कारण ही सरगुजा की सभी 14 सीटें जीतने को मिली है. यहां तक की सीतापुर सीट पर भाजपा की झोली में गई.

ओम माथुर ने सीएम, दोनों डिप्टी सीएम, प्रदेश अध्यक्ष, मंत्रियों और सभी विधायकों को खड़ा कराकर हाथ जोड़कर कार्यकर्ताओं का अभिनंदन कराया. उन्होंने कहा “ये हमारा नहीं हमारे सैनिकों का अभिनंदन है. सारे सर्वे यहां कांग्रेस को जिता रहे थे, लेकिन मैं कह रहा था हम जीतेंगे. लोग कह रहे हैं कि ये मैंने किया है, मैंने नहीं किया, ये कमाल कार्यकर्ताओं ने कर दिखाया है. मैं कार्यकर्ताओं के दम पर दौड़ता हूं.”

भगवान विष्णु से की साय की तुलना: ओम माथुर ने कहा, “क्या कोई कल्पना कर सकता था कि हम बस्तर की 12 सीट और सरगुजा की 14 सीट जीतेंगे. कभी कोई संकट आया है तो विष्णु ही धरती पर आए हैं. आपके संकट के लिए हमने भी विष्णु को मुख्यमंत्री बनाया हैं. आप चिंता मत करो जितना जोर से आप स्वगत करते हो, उतनी ही जोर से मुख्यमंत्री मोदी की गारंटी लागू करेंगे.”

ओम माथुर ने कहा “गुजरात में भी सारे विपक्षी एक हुए थे, उस समय चंद्रबाबू नायडू ने सबको इकट्ठा किया था, क्या हुआ. 19 में भी इकट्ठा हुए क्या हुआ. अब इंडिया बनी है, ये इंडी बनाये या भिंडी बनाये, 24 में भी ये कार्यकर्ता मोदी की सरकार बनायेंगे. आजादी को 75 वर्ष हो रहे हैं किसके मन मे ये प्रेरणा आई की संसद भवन मेरी आस्था का केंद्र है, इसलिए उन्होंने संसद में जाने से पहले प्रमाण किया. ना सोऊंगा, ना आपको सोने दूंगा. ना थकूंगा, ना थकने दूंगा. 12 सीट जीतनी है तो काम करना पड़ेगा.”

ओम माथुर ने कहा “बड़े बुजुर्ग कहते थे हिन्दुतान विश्व गुरु था सोने की चिड़िया थी, हमारे प्रधानमंत्री ने यूएन में पहली बार कहा वसुधैव कुटुम्बकम का नारा दिया, जिसके बाद पूरी दुनिया योग दिवस मनाने लगी. एक वो थे जो समझौता कर दिया, हमने धोखा नही दिया सरगुज़ा के लाल को मुख्यमंत्री बनाकर खड़ा कर दिया है, आपने सरगुज़ा कांग्रेस मुक्त किया है, स्थायी रूप से इसे कांग्रेस मुक्त करना है.”

लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुटी बीजेपी: लोकसभा चुनाव मार्च से अप्रैल महीने के बीच होने की संभावना है. विधानसभा चुनाव में मिली ऐतिहासिक जीत के बाद बीजेपी अब लोकसभा चुनाव में भी बेहतर प्रदर्शन की तैयारी में जुट गई है. बीजेपी ने इस बार प्रदेश की सभी 11 सीटों को जीतने का लक्ष्य बनाया है. बीते रविवार को पार्टी ने लोकसभा चुनाव की तैयारियों और रणनीति पर चर्चा के लिए बड़ी बैक की. रायपुर में भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा और प्रदेश कार्यसमिति की बैठक हुई.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here