CG News : सीएम भूपेश बघेल का छात्रों को बड़ा तोहफा, अब मिलेगी ये सुविधाएं फ्री, किया योजना का शुभारंभ

0
21

Swami Atmanand Coaching Scheme: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) ने मंगलवार को इंजीनियरिंग और मेडिकल के प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए अपने निवास कार्यालय से ’स्वामी आत्मानंद कोचिंग’ योजना का ऑनलाइन शुभारंभ किया. इस अवसर पर स्कूल शिक्षा मंत्री रविंद्र चौबे और विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे . इस योजना में ख्याति प्राप्त एलन कैरियर इंस्टिट्यूट ने सीएसआर के तहत निःशुल्क कोचिंग देने सहमति दी है. छत्तीसगढ़ के शासकीय स्कूलों में अध्यनरत 12वीं के मेधावी छात्र-छात्राओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाने के लिए छत्तीसगढ़ शासन और एलन इंस्टिट्यूट के मध्य एमओयू पर हस्ताक्षर भी किए गए हैं.

उल्लेखनीय है कि स्वतंत्रता दिवस समारोह में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शासकीय स्कूलों में कक्षा 12वीं के विद्यार्थियों के लिए इंजीनियरिंग और मेडिकल पाठ्यक्रम की प्रवेश परीक्षा की ऑनलाइन कोचिंग योजना की घोषणा की थी. स्कूल शिक्षा विभाग की स्वामी आत्मानंद कोचिंग योजना के अनुसार, प्रदेश के कक्षा दसवीं में 60 फीसदी अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थी और कक्षा 12वीं में अध्यनरत विद्यार्थियों को कोचिंग दी जाएगी. प्रदेश के 146 विकासखंड मुख्यालयों और चार शहर रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर और कोरबा सहित 150 कोचिंग सेंटर के माध्यम से राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षा प्री-मेडिकल नीट के साथ प्री-इंजीनियरिंग आईआईटी की बेहतर रूप से तैयारी के लिए ऑनलाइन कोचिंग प्रदान की जाएगी.

Read more : PM Modi CG Visit : पीएम नरेंद्र मोदी का आज छत्तीसगढ़ दौरा, जगदलपुर में चुनावी सभा को करेंगे संबोधित 

मेरिट के अनुसार विद्यार्थियों का चयन होगा

योजना के अनुसार, कोचिंग राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद के माध्यम से प्रदान की जाएगी. इस संबंध में लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा सभी जिला शिक्षा अधिकारियों के माध्यम से कोचिंग सेंटर की स्थापना की तैयारी कर प्रवेश प्रारंभ कर दिया गया है. स्वामी आत्मानंद कोचिंग योजना में मेरिट क्रम अनुसार विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा. विद्यार्थी को संबंधित विकासखंड, शहर के शासकीय स्कूलों में कक्षा 12वीं का नियमित विद्यार्थी होना अनिवार्य होगा. विकासखंड मुख्यालय की स्कूलों में कक्षा 12वीं में जीव विज्ञान और गणित संकाय में अध्ययनरत विद्यार्थी ही पात्र होंगे. प्रत्येक कोचिंग सेंटर में 75 से 100 विद्यार्थियों का प्रवेश दिया जाना है. इसमें प्री-मेडिकल और प्री-इंजीनियरिंग के लिए अधिकतम 50-50 विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा.

रायपुर से ऑनलाइन कक्षाएं होंगी संचालित

राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद रायपुर से ऑनलाइन कक्षाएं संचालित की जाएंगी. यह कक्षाएं शाम 3 बजे से 6.30 बजे तक संचालित होंगी. इस संबंध में विषय विशेषज्ञ नोडल अधिकारी और प्राचार्य को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं. ऑनलाइन कक्षाओं की यह विशेषता रहेगी कि यह टू-वे संवाद रहेगा. मतलब विद्यार्थी विषय विशेषज्ञों से प्रश्न पूछ सकेंगे. देश में संचालित आत्मानंद विद्यालय के साथ-साथ अन्य विद्यालयों में भी जेईई और नीट के लिए अलग-अलग कक्षाएं संचालित होंगी.

 

प्रत्येक कोचिंग केंद्र में भौतिक, रसायन, जीव विज्ञान व गणित विषय के लिए नोडल शिक्षक और एक मुख्य नोडल अधिकारी प्रिंसिपल के साथ सीनियर लेक्चरर स्टाफ को नियुक्त किया गया है. ऑनलाइन कोचिंग प्रदाता संस्थान विद्यार्थियों के रिपोर्ट कार्ड का विश्लेषण विद्यार्थियों का फीडबैक पालकों का फीडबैक इत्यादि इस कार्यक्रम की सघन मॉनिटरिंग के लिए मॉनिटरिंग अधिकारी भी नियुक्त किए जा रहे हैं.

 

अपने आसपास के साथ देश-दुनिया की घटनाओं व खबरों को सबसे पहले जानने के लिए जुड़े हमारे साथ :-

https://chat.whatsapp.com/BEF92xpiZmxEHCHzSfLf5h

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here