Mukhyamantri Nirman Shramik Pension Yojana: सिर्फ इन लोगों को मिलेगा मुख्यमंत्री पेंशन योजना का लाभ, हर महीने आएंगे इतने हजार रुपये

0
14

Mukhyamantri Nirman Shramik Pension Yojana : रायपुर। गरीबों के आर्थिक उत्थान के लिए भूपेश सरकार प्रदेश के लिए काबिले तारीफ कार्य कर रही है। न्याय योजनाओं के चलते बीते पांच सालों में 40 लाख लोग गरीबी रेखा से बाहर आ गये हैं। लगभग सवा दो लाख करोड़ रुपए की राशि सीधे हितग्राहियों के खाते में अंतरित की गई है। छत्तीसगढ़ सरकार की सभी योजनाओं का भरपूर लाभ आम जनता को मिल रहा है। सीएम भूपेश बघेल कहते है कि बच्चों को शिक्षा और रोजगार के क्षेत्र में कौन से साधनों की जरूरत है उनसे बेहतर कोई नहीं बता सकता है। ऐसे में सीएम भूपेश बघेल किसानों के हित में कई योजनाओं को लागू कर उन तक पहुंचा रहे हैं।

 

सीएम भूपेश ने जारी की किसान न्याय योजना की तीसरी किश्त

सीएम भूपेश बघेल के अनुसार विश्वास, विकास एवं सुरक्षा ही सरकार का मूलमंत्र है। छत्तीसगढ़ के अंदरूनी इलाकों में बुनियादी सुविधाएं पहुंचाना सबसे जरूरी है। भूपेश सरकार का लक्ष्य ग्रामीणों तक राशन, शिक्षा, स्वास्थ्य, संचार माध्यम, रोजमर्रा की चीजें, रोजगार व आजीविका के साधन उपलब्ध कराना है। प्रदेश के इन्हीं सब जरूरतों को समझते हुए सीएम बघेल न तमाम योजनाएं शुरू की, जिसका लाभ आज हर एक नागरिक उठा रहा है।

Read more : Govt Jobs : कम्प्यूटर ऑपरेटर, सहायक ग्रेड-3 सहित अन्य पदों पर भर्ती, जानें कैसे करें अप्लाई 

वहीं लोगों की आर्थिक जरूरतों को देखते हुए सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मुख्यमंत्री निर्माण श्रमिक पेंशन सहायता योजना का शुभारंभ किया। इस योजना अंतर्गत दस साल तक पंजीकृत रहे एवं 60 वर्ष की आयु पूरी कर चुके निर्माणी श्रमिकों को जीवनपर्यंत प्रति माह 15 सौ रुपए की पेंशन सहायता दी जाएगी। सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे एवं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत 24.52 लाख किसानों को 1895 करोड़ रुपए की तीसरी किश्त भी जारी की।

 

सीएम भूपेश बघेल के नेतृत्व में पिछले पौने पांच वर्षों के दौरान जनता की भलाई के लिए चलाई जा रही योजनाओं एवं कार्यक्रमों की मुक्तकंठ से लोगों ने सराहना की। साथ ही बताया कि इसमें सरकार द्वारा जनहित में संचालित विभिन्न योजनाओं तथा कार्यक्रमों के बारे में सहजता से जानकारी उपलब्ध हो रही है, इससे उनका भली-भांति लाभ उठाने में भी काफी सहुलियत होगी।

 

जानें क्या है मुख्यमंत्री निर्माण श्रमिक पेंशन योजना?

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 28 सितंबर के दिन आयोजित किए गए कृषक सा श्रमिक सम्मेलन के दौरान मुख्यमंत्री निर्माण श्रमिक पेंशन योजना का शुभारंभ किया है। इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य संनिर्माण में पंजीकृत श्रमिकों को मासिक पेंशन का लाभ प्रदान किया जाएगा और आपको बता देना चाहते हैं कि इस योजना के तहत दिया जाने वाला मासिक पेंशन हर महीने 1500 रुपए का होगा। इसकी खास बात यह है कि श्रमिकों को जीवन पर्याप्त प्राप्त होने वाला है। इस योजना के चलते श्रमिकों का आर्थिक पक्ष मजबूत होगा।

 

छत्तीसगढ़ निर्माण श्रमिक पेंशन सहायता योजना का उद्देश्य

Mukhyamantri Nirman Shramik Pension Yojana : सीएम भूपेश बघेल की विशेष पहल से शुरू की गई छत्तीसगढ़ निर्माण श्रमिक पेंशन सहायता योजना का उद्देश्य यह है कि जब छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य संनिर्माण कल्याण बोर्ड से जुड़े श्रमिक 60 वर्ष से अधिक आयु के हो जाते हैं तब हम समझ सकते हैं कि श्रमिकों का शरीर भी इनका साथ नहीं देता इसीलिए वह कहीं पर भी मजदूरी करके रोजगार प्राप्त करने में भी असमर्थ हो जाते हैं।

 

ऐसे समय में छत्तीसगढ़ सरकार ने उन्हें सहायता देने के लिए मुख्यमंत्री श्रमिक सियान सहायता योजना तो शुरू की, जिसमें एकमुश्त भुगतान किया जाता है किंतु इस मुख्यमंत्री निर्माण श्रमिक पेंशन सहायता योजना के तहत हर महीने पेंशन श्रमिकों को प्रदान करने के उद्देश्य के साथ इस योजना को शुरू किया गया है

Read more :liquor store closed: मदिरा प्रेमियों के लिए बुरी खबर, इस दिन बंद रहेंगे शराब की सभी दुकानें 

श्रमिक पेंशन सहायता योजना का लाभ एवं विशेषताएं

मुख्यमंत्री निर्माण श्रमिक पेंशन योजना को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा कृषक शहर श्रमिक सम्मेलन के दौरान शुरू किया गया है।

इस योजना के अंतर्गत पात्र श्रमिकों को हर महीने 1500 रुपए पेंशन के रूप में प्रदान किए जाएंगे

इस योजना के अंतर्गत दिया जाने वाला मासिक पेंशन सीधा श्रमिक के बैंक खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के जरिए जमा किया जाएगा।

यह योजना श्रमिकों को उनके बुढ़ापे में आर्थिक सहायता प्रदान करेगी जब वह मजदूरी के लिए असमर्थ हो जाते हैं।

मुख्यमंत्री निर्माण श्रमिक पेंशन योजना के तहत श्रमिकों को मिलने वाला पेंशन जीवनपर्यंत​ मिलेगा।

इस योजना के कारण छत्तीसगढ़ के श्रमिक 60 वर्ष के पश्चात भी आर्थिक रूप से सशक्त व आत्मनिर्भर बन सकेंगे।

अपने आसपास के साथ देश-दुनिया की घटनाओं व खबरों को सबसे पहले जानने के लिए जुड़े हमारे साथ :-

https://chat.whatsapp.com/BEF92xpiZmxEHCHzSfLf5h

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here