ये हैं छत्तीसगढ़ के सबसे बहादुर पुलिस ऑफिसर, तीसरी बार मिलेगा राष्ट्रपति पुलिस वीरता पदक…

0
16

रायपुरः राजनांदगांव जिले के पुलिस कप्तान मोहित गर्ग को पुलिस विरता पुरस्कार से नवाजा जाएगा। यह सम्मान उन्हें गणतंत्र दिवस के मौके पर दिया गया। गर्ग छत्तीसगढ़ के ऐसे पहले अधिकारी हैं जिन्हें तीसरी बार यह पुरस्कार मिल रहा है।2016 में थाना बीजापुर के गांव कोकड़ा पारा तुमनार में पुलिस ने मओवादी विरोधी अभियान निकाला था। जिसका नेतृत्व मोहित गर्ग कर रहे थे। सर्चिंग के दौरान घात लगाकर बैठे मओवादियों ने पुलिस की टीम पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी।

Read More: इन तीन राशियों पर मेहरबान रहेंगी मां लक्ष्मी, घर में कभी नहीं होगी धन की कमी

पुलिस और मओवादियों के बीच हुए मुठभेड़ में 4 मओवादी मारे गए। उनके पास से भारी मात्रा में हथियार जब्त किए गए थे। इस सफलता के बाद पुलिस कप्तान मोहित गर्ग को साल 2019 में राष्ट्रपति द्वारा ‘पुलिस वीरता पदक’ से नवाजा गया था।इसी तरह साल 2017 में थाना बेदरे के गांव पदमेटा के जंगल में पुलिस ने मओवादी विरोधी अभियान शुरू किया। जिसका नेतृत्व मोहित गर्ग कर रहे थे। सर्चिंग के दौरान घात लगाकर बैठे मओवादियों ने पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी। इस मुठभेड़ में भी 2 माओवादी मारे गए।

Read More: इन तीन राशियों पर मेहरबान रहेंगी मां लक्ष्मी, घर में कभी नहीं होगी धन की कमी

यहां भी पुलिस ने हथियारों का जखीरा जब्त किया था। जिसके बाद पुलिस कप्तान मोहित गर्ग को साल 2020 में राष्ट्रपति द्वारा ‘पुलिस वीरता पदक’ मिला था।मोहित गर्ग छत्तीसगढ़ कैडर के 2013 बैच के आईपीएस ऑफिसर हैं। वह मूल रुप से दिल्ली के रहने वाले हैं। गर्ग इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद आईआईएम अहमदाबाद से एम.बी.ए. की पढ़ाई किए। यूपीएससी में चयन होने से पहले उन्होंने करीब एक साल तक आईटीसी में नौकरी भी की है।

Read More: इन तीन राशियों पर मेहरबान रहेंगी मां लक्ष्मी, घर में कभी नहीं होगी धन की कमी

वर्तमान में मोहित गर्ग पुलिस कप्तान राजनांदगांव के पद पर तैनात हैं। इससे पहले वे सी.एस.पी. बिलासपुर, अतिरिक्त पुलिस कप्तान बीजापुर के पद पर जिला गरियाबंद, बीजापुर, नारायणपुर, कबीरधाम, बलरामपुर में तैनात थे। वे सेनानी 14वीं वाहिनी धनोरा बालोद, सेनानी 19वीं वाहिनी, छसबल जगदलपुर, सेनानी 16वीं वाहिनी छसबल नारायणपुर (अतिरिक्त प्रभार) के पद पर कार्य कर चुके हैं। पुलिस कप्तान राजनांदगांव मोहित गर्ग छत्तीसगढ़ के पहले आईपीएस हैं, जिन्हें 3 बार राष्ट्रपति द्वारा ‘पुलिस वीरता पदक’ पुरस्कार मिला है।

Read More: इन तीन राशियों पर मेहरबान रहेंगी मां लक्ष्मी, घर में कभी नहीं होगी धन की कमी

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here